Breaking News
Home / भूगोल / ज्वालामुखी के प्रकार

ज्वालामुखी के प्रकार

ज्वालामुखी के प्रकार

ज्वालामुखी के प्रमुख प्रकार निम्नलिखित हैं-

मृत ज्वालामुखी- इस प्रकार के ज्वालामुखी में विस्फोट प्रायः बन्द हो जाते हैं और भविष्य में भी कोई विस्फोट होने की सम्भावना नहीं होती । इसका मुख मिट्टी , लावा आदि पदाथों से बन्द हो जाता है और मुख का गहरा क्षेत्र कालान्तर में झील के रूप में  बदल जाता है , जिसके ऊपर पेड़ – पौधे उग आते हैं । म्यांमार का पोपा मृत ज्वालामुखी ( Extinct Volcano ) का प्रमुख उदाहरण है ।

विश्व के प्रमुख ज्वालामुखी

प्रसुप्त ज्वालामुखी- प्रसुप्त ज्वालामुखी ( Dormant Volcano ) में दीर्घकाल से उद्भेदन ( विस्फोट ) नहीं हुआ होता , किन्तु इसकी सम्भावनाएँ बनी रहती हैं । ये जब कभी अचानक क्रियाशील हो जाते हैं , तो जन – धन की अपार क्षति होती है । इसके मुख से गैसें तथा वाष्प निकलती हैं । इटली का विसूवियस ज्वालामुखी कई वर्ष तक प्रसुप्त रहने के पश्चात् वर्ष 1931 में अचानक फूट पड़ा ।

सक्रिय ज्वालामुखी- सक्रिय ज्वालामुखी ( Active Volcano ) में प्राय : विस्फोट तथा उद्भेदन होता ही रहता है । इनका मुख सर्वदा खुला रहता है और समय – समय पर लावा , धुआं तथा अन्य पदार्थ बाहर निकलते रहते हैं , जिससे शंकु का निर्माण होता रहता है । इटली में पाया जाने वाला एटना ज्वालामुखी इसका प्रमुख उदाहरण है , जोकि 2500 वर्षों से सक्रिय है । सिसली द्वीप का स्ट्राम्बोली ज्वालामुखी प्रत्येक 15 मिनट बाद फटता है । इसे भूमध्य सागर का प्रकाश स्तम्भ ( Light House of the Mediterranean ) कहा जाता है ।

Check Also

पृथ्वी की उत्पत्ति

पृथ्वी की उत्पत्ति पृथ्वी की उत्पत्ति के सम्बन्ध में सम्भवतः सर्वप्रथम तर्कपूर्ण परिकल्पना का प्रतिपादन …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *