Breaking News
Home / भूगोल / पर्वत

पर्वत

पर्वत

धरातल पर स्थित ऐसे उच्चावच , जिनका शीर्ष आधार तल की तुलना में संकुचित हो एवं ढाल तीव्र हो , पर्वत कहलाते हैं । पर्वत अपने आस – पास के क्षेत्र से इतने अधिक ऊँचे होते हैं कि वे दूर से ही स्पष्ट रूप से नजर आते हैं । पर्वतों की उत्पत्ति भ – संचलन, ज्वालामुखी आदि क्रियाओं का प्रतिफल होती हैं ।

पर्वतों के विभिन्न स्वरूप

पर्वतों के विभिन्न स्वरूप निम्न प्रकार हैं

पर्वत श्रेणी ( Mountain Range ) इसमें कई कटक शिखर , घाटियाँ सम्मिलित होती है । एक ही काल में निर्मित विभिन्न पर्वतों के निश्चित क्रम को पर्वत श्रेणी कहा जाता है ; जैसे – हिमालय

पर्वत श्रृंखला ( Mountain Series ) इसमें विभिन्न युगों में भिन्न – भिन्न प्रकार से निर्मित लम्बे तथा संकरे पर्वतों का विस्तार होता है ; जैसे – अप्लेशियन ।

ज्वालामुखी के प्रकार

पर्वत तन्त्र ( Mountain System ) इसमें एक ही युग में एक ही प्रकार से निर्मित होने वाले समूह शामिल होते हैं ।

पर्वत समूह ( Cardillera ) इसमें विभिन्न काल में अलग – अलग प्रकार से निर्मित पर्वत श्रेणियाँ , तन्त्र एवं श्रृंखलाएँ पाई जाती हैं । जैसे – USA का प्रशान्त कार्डिलेरा ।

पर्वत कटक इसमें लम्बे एवं संकरे आकार की संकीर्ण एवं ऊँची पहाड़ियों के पर्वत खण्ड शामिल हैं ; जैसे – अप्लेशियन का स्लूरिट्ज ।

विश्व के प्रमुख पर्वत

पर्वत – शिखर देश ऊँचाई ( मी . )
एवरेस्ट नेपाल 8,850
के – 2 ( गाडविन आस्टिन ) भारत 8,611
कांचनजुंगा नेपाल – भारत 8,598
लहात्से 1 नेपाल 8,501
मकालू 1 नेपाल – चीन 8,481
धौलागिरी नेपाल 8,172
नंगा पर्वत भारत 8,126
अन्नपूर्णा नेपाल 8,078
ग्रेशरब्रम पाकिस्तान 8,068
गोसांईथान चीन 8,018
नन्दादेवी भारत 7,817
राकापोशी पाकिस्तान 7,788
कामेट भारत – चीन 7,756
नाम्चावर्वा चीन 7,756
गुर्लमान्धाता चीन 7,728
तिरिचमीर पाकिस्तान 7,728

Check Also

पृथ्वी की उत्पत्ति

पृथ्वी की उत्पत्ति पृथ्वी की उत्पत्ति के सम्बन्ध में सम्भवतः सर्वप्रथम तर्कपूर्ण परिकल्पना का प्रतिपादन …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *