Breaking News
Home / भूगोल / वायुमण्डल में वायु दाब

वायुमण्डल में वायु दाब

वायुदाब

वायुमण्डल में उपस्थित गैसों में एक निश्चित भार होता है , उन्हीं गैसों द्वारा पृथ्वी पर पड़ने वाले दबाव को वायु दाब ( Air Pressure ) कहते हैं । इसे बैरोमीटर में प्रति इकाई क्षेत्रफल पर पड़ने वाले बल के रूप में मापते हैं । जलवायु वैज्ञानिकों ने इसके लिए मिलीबार को इकाई माना है । एक मिलीबार एक वर्ग सेमी पर गैस के एक ग्राम भार का बल है । बैरोमीटर के पारा का पहले गिरना फिर धीरे – धीरे बढ़ना वर्षा की स्थिति का परिचायक है , वहीं बैरोमीटर में पारा का ऊपर की ओर बढ़ना प्रतिचक्रवातीय और साफ मौसम का संकेत देता है । वायुदाब के वितरण को समदाब रेखाओं ( Isobars ) के द्वारा दर्शाया जाता है । यह वह कल्पित रेखा है , जो समान वायुदाब वाले स्थानों को मिलाती है । वायुदाब को मौसम के पूर्वानुमान का एक महत्त्वपूर्ण सूचक माना जाता है ।

आकाशगंगा

वायुदाब पेटियाँ

वायुमण्डल वायु दाब की पेटियों की उत्पत्ति में तापमान के साथ पृथ्वी की घूर्णन गति का भी योगदान होता है । धरातल पर वायुदाब की कुल सात आदर्श पेटियाँ ( उनमें से चार उच्च दाब की पेटियाँ हैं और तीन न्यून वायुदाब की ) हैं । ये पेटियाँ केवल उसी समय सम्भव हो सकती हैं , जब पृथ्वी पर किसी प्रकार की विभिन्नता न हो ( जैसे – जल और स्थल की विभिन्नता ) । भूमध्य रेखा के उत्तर में जहाँ स्थल के बाद जल और जल के बाद स्थल दिखाई पड़ता है , वायुदाब की पेटियों का बराबर बने रहना कठिन होता है ।

वायुदाब

Check Also

चन्द्रग्रहण

चन्द्रग्रहण जब पृथ्वी की छाया चन्द्रमा पर पड़ती है , तो उसे चन्द्रग्रहण ( Lunar …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *