हिंदी व्याकरण, पत्र लेखन

डाकिये की शिकायत करते हुए डाकपाल को पत्र | hindi application writing

सेवा में,

श्रीमान् मुख्य डाकपाल महोदय,

मुख्य डाकघर, जोधपुर।

विषय-डाकिये द्वारा डाक-वितरण में गड़बड़ी।

मान्यवर,

हमारे मोहल्ले लालगेट में इस समय जो पोस्टमैन (डाकिया) डाक बांटता है, वह बड़ी लापरवाई बरतता है। सड़क पर‌ चलते-चलते ही पत्रों को दूर से घर की ओर फेंककर चला जाता है, जिससे पत्र नाली में गिर जाते हैं या फिर दूसरे के मकान में चले जाते हैं। कई बार ऐसा हो चुका है। उन्हें विनम्र शब्दों में समझाया भी गया है, मगर वे बुरी तरह पेश आते हैं और कहते हैं,मेरी शिकायत कर दो।

पहले वे हमारे पत्रों को पड़ोस में दे जाता करते थे। उनकी शिकायत करने के बाद अब इस तरह फेंककर जाते हैं। दीपावली की मिठाई को लेकर उनका यह व्यवहार हुआ है। हमने पांच रूपये दिए थे, जबकि उनकी मांग ज्यादा की थी।

आपसे निवेदन है कि कृपया या तो उन्हें समझाकर डाक-वितरण की व्यवस्था ठीक कराएं या फिर उनकी जगह किसी अन्य व्यक्ति को लगाने का कष्ट करें।

भवदीय

रमेश कुमार

मकान नं० 35, लालगेट

जोधपुर

दिनांक 6-10-2022

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *