हिंदी व्याकरण, पत्र लेखन

पिताजी का इलाज करवाने के लिए पत्र | letter writing

जयपुर

30सितंबर,2022

आदरणीय पिता जी,

बहुत दिनों की प्रतीक्षा के बाद आपका पत्र मिला। पत्र में और सब समाचारों को लेकर तो संतोष था किंतु आपके स्वास्थ्य की गिरावट ने मुझे आशंकित कर दिया।

बीच-बीच में अभी भी आपके पेट-दर्द उठता है, इससे मै बहुत आशंकित हूं। अगर वहां के डॉक्टर सही निदान नहीं कर पाए हैं तो आप और माता जी जल्दी से जल्दी यहां आ जाएं। यहां पेट के विशेषज्ञ डॉक्टर से आपका इलाज हो जाएगा। यदि गुर्दे में पथरी की भी आशंका है तो सारी जांच करवाकर उसका भी इलाज हो जाएगा। आप निश्चित रहें, यहां आप पूरी तरह स्वस्थ हो जाएंगे। मैं बस अब आपके उस पत्र के इंतजार में रहूंगा जिसमें आप यहां पहुंचने की सूचना देंगे।

आदरणीय माता जी को प्रणाम, भाई साहब और भाभी जी को नमस्कार तथा देव-ज्योति को प्यार।

आपका कृपाकांक्षी

आपका प्रिय

आशिष

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *