हिंदी व्याकरण, पत्र लेखन

मित्र को पत्र | hindi letter writing

विजयनगर

दिनांक 25-9-2022

प्रिय मित्र सुशील,

सप्रेम नमस्ते।

बहुत दिन बाद तुम्हारा पत्र मिला है। यह पढ़कर बड़ी प्रसन्नता हुई कि तुम्हारा चयन जिलास्तरीय क्रीड़ा-प्रतियोगिता के लिए गया है। मैं भी फुटबॉल और कबड्डी की टीम में चुना गया हूं। टूरनामैंट अगले माह होंगे, तब चार-छह दिन साथ रहने का अवसर मिलेगा। अवश्य आना।

इन खेलों के कारण पढ़ाई का बड़ा नुक़सान होता है मैं तो रात को दस बजे तक पढ़कर होता हूं। प्रातः पांच बजे से फिर पढ़ना शुरू करता हूं। मैं सोचता हूं कि यदि पढ़ें नहीं तो फेल हो जाएंगे। फेल होने पर इन खेलों को कोई पूछने वाला नहीं है। सो मित्र, मेरी तो आपको भी यही सलाह है कि पढ़ाई पर पूरा ध्यान देना ही उचित है।

पिताजी और माताजी को मेरा सादर प्रणाम कहना। पत्र अधिक नहीं तो हर पंदरहवें दिन अवश्य देते रहा करो।

तुम्हारा मित्र

राजेश

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *