हिंदी व्याकरण, पत्र लेखन

शैक्षिक भ्रमण पर जाने हेतु अनुमति के लिए पिता जी को पत्र | hindi letter writing

पुष्कर रोड

अजमेर

1 अक्टूबर 2022

पूजनीय पिताजी,

सादर चरणस्पर्श

आपका कृपापत्र मिला। मैं यहां सकुशल हूं। पढ़ाई अच्छी चल रही है। दोनों जांच-परीक्षाओं में मुझे कक्षा में सबसे अधिक अंक मिले हैं। यह आपके और अम्मा के आशीर्वाद का फल है।

दीपावली-अवकाशों में हमारे विघालय के काफी छात्र और गुरूजी कश्मीर-यात्रा पर जाएंगे। प्रति छात्र तीन सौ रुपये किराये हेतु लिए जा रहे हैं। यात्रा बस द्वारा होगी। जयपुर, दिल्ली, चंडीगढ़, वैष्णोदेवी तथा श्रीनगर जाते समय देखेंगे। आते समय दिल्ली, मथुरा, आगरा देखने का कार्यक्रम है।

मुझे आप इस शैक्षिक यात्रा में शामिल होने की अनुमति प्रदान करें और पांच सौ रुपए खर्चे के लिए सुरेश चाचा के हाथ भेंज दें। अम्मा के चरण-स्पर्श।

आपका पुत्र

अनुराग

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *